बहुत जल्द डेबिट और क्रेडिट कार्ड की जगह इस्तेमाल होगा ये नया कार्ड

नोटबंदी के बाद से ही सुनने में आ रहा है कि कैसे सरकार अब देश को एक कैशलेस इकॉनमी बनाने की राह पर अग्रसर है| देश को कैशलेस इकॉनमी बनाने के लिए नीति आयोग चाहता है कि देश में सभी प्रकार के ट्रांजेक्‍शंस के लिए केवल आधार कार्ड का ही उपयोग किया जाए| अपने इस फैसले को जल्द से जल्द हकीकत में बदलने के लिए सरकार ने अपने सभी महत्वपूर्ण विभागों से ऑनलाइन और डिजिटल ट्रांजैक्शन करने के आदेश भी जारी कर दिए हैं|

niti-aayog

जाहिर है देश में ऐसे भी बहुत लोग हैं जिन्हे अभी कैशलेस इकॉनमी के बारे में समझने की जरूरत है तो सरकार ने इस बारे में भी एक अहम कदम उठाते हुए लोगों को कैशलेस इकॉनमी के बारे में जागरूक या कहिये प्रशिक्षित करना शुरू कर दिया है

क्या है कैशलेस इकॉनमी?

जैसे की आज के समय में अगर हम बाज़ार जाकर कुछ खरीदते हैं तो उसका लेनदेन हम पैसों से करते हैं लेकिन ऐसे में अगर सरकार कैशलेस इकॉनमी लागू करती है तो भविष्य में किसी भी तरह के भुगतान के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड की जगह आपका 12 अंकों वाला आधार कार्ड उपयोग किया जा सकेगा|

यानि की पैसों के लेनदेन का चलन मानो बंद ही हो जाना है, जब देश में पैसों का मोल ख़त्म हो जाता है और उसकी जगह प्लास्टिक मनी, या जिसे हम डेबिट और क्रेडिट कार्ड कहते हैं उनका इस्तेमाल शुरू हो जाता है, तो उसे ही कैशलेस इकॉनमी का नाम दिया जाता है| साभार: हिंदी इंसिस्ट पोस्ट

अपनी कीमती राय ज़रूर दें, शुक्रिया!

नए अपडेट पाने के लिए फेसबुक पेज ज़रूर Like करें !

loading...
loading...