एक्सिस बैंक में काले धन को सफेद किया, तीन खातों में 30 करोड़ रुपये

नई दिल्ली: दिल्ली के कश्मीरी गेट के पास स्थित एक्सिस बैंक में काले धन को सफेद कराने के मामला सामने आया है नोटबंदी की घोषणा के फौरन बाद ही नए खाते खोले गए थे. आयकर विभाग इस मामले में चांदनी चौक के एक ज्वैलर से पूछताछ कर रहा है और एक एंट्री ऑपरेटर की तलाश कर रहा है।

आखिर कौन था वो शख्स जिसके इशारे पर कश्मीरी गेट के एक्सिस बैंक के खाते में 11 नवबंर को तीन खाते खोले गए थे और फिर बैंक कर्मियों की मिलीभगत से इन खातों में हजार और पाँच सौ के काले नोटों को जमा करने का खेल शुरू हुआ था. आयकर विभाग के सूत्र बताते हैं कि इन खातो में मात्र 10 दिनो में तीस करोड रुपये से ज्यादा की धनराशि जमा कराई गई आखिर इतनी बड़ी रकम कहा से आई।

आयकर विभाग के सूत्रों के मुताबिक काले धन को सफेद करने के इस खेल की जांच के दौरान अहम खुलासा हुआ है. पता चला है कि इनमें से दो खाते एक एंट्री ऑपरेटर के इशारे पर खोले गए थे और जिन कंपनियों के नाम पर ये खाते खोले गए थे उनकी आरंभिक जांच के दौरान दोनों कंपनियां महज कागजी कंपनियां होने का इशारा कर रही हैं. आय़कर विभाग इस एंट्री ऑपरेटर की तलाश कर रहा है।

सूत्रो ने बताया कि केन्द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड यानि सीबीडीटी ने इसे बेहद गंभीरता से लेते हुए आठ नवबंर के बाद कंपनियों के नाम पर खोले जाने वालो खातो की बारीकी से जांच के आदेश दिए है. बोर्ड को शक है कि कागजी कंपनियों के नाम पर और भी जगह काले को सफेद बनाने का खेल किए जा सकते हैं।

अब तक की जांच के दौरान पता चला है कि इस खेल में चांदनी चौक की कूचा महाजनी का एक ज्वलैर भी शामिल था जिसके बयान आयकर विभाग ने दर्ज किए है. अपनी आरंभिक पूछताछ में इस ज्वैलर ने खुलासा किया है कि वो एंट्री ऑपरेटर के कहने पर काम कर रहा था. विभाग इस बात का पता करने में जुटा है कि जो काला धन सफेद कराया जा रहा था वो वास्तव में किसका है।

एक्सिस बैंक मामले में अब तक कुल पाँच लोगो से पूछताछ हो चुकी है और आयकर विभाग बैंक के दो मैनेजरों के यहां दिल्ली और नोएडा के वैशाली में छापेमारी कर चुका है. सूत्रों ने बताया कि आयकर विभाग की पूछताछ के दौरान ये मैनेजर इस बात का कोई जवाब नहीं दे पाए कि 10 दिनों में तीस करोड रुपये की रकम जमा होने के वावजूद उन्होंने एसटीआर यानि सस्पेक्ट ट्रांजेक्शन की कोई रिपोर्ट क्यों नहीं भेजी गई अभी तक।

Facebook Comments