रुवैदा सलाम बनीं IAS पास करने वाली पहली कश्मीरी लड़की

हमारे देश में महिलाएं आज हर क्षेत्र में आगे बढ़ रहीं हैं, चाहे फिर वो खेल-कूद हो, राजनीति हो, फिल्म जगत हो या फिर देश के उच्च पदों पर नियुक्त होना हो. अब ये कहना गलत नहीं होगा कि देश में महिलाओं की स्थिति बदल रही है. महिलाएं अपने दम पर आगे बढ़ रही हैं और देश का नाम रौशन कर रहीं हैं.

985443059

ऐसी ही एक महिला से आज हम आपको रू-ब-रू करवाने जा रहे हैं, जो पहली कश्मीरी मुस्लिम लड़की हैं, जिन्होंने भारतीय सिविल सेवा परीक्षा पास की है. लेकिन उनकी सफलताओं की लिस्ट यहीं पर खत्म नहीं होती है.

‘धरती का स्वर्ग’ कहे जाने वाले जम्मू-कश्मीर की रहने वाली रूवैदा सलाम ने सफलता की बुलंदियों को छूकर इतिहास लिख दिया है. वह ऐसी पहली कश्मीरी मुस्लिम लड़की हैं, जिन्होंने पहले MBBS फिर IPS और अब IAS एग्ज़ाम पास कर एक मिसाल कायम की है.

download

जम्मू के कुपवाड़ा की रहने वाली रूवैदा ने हाल ही में UPSC की परीक्षा पास की है. इस परीक्षा को पास करने के बाद उन्होंने अपना IAS बनने का सपना साकार कर लिया है. उनकी इस सफलता के पीछे कड़ी मेहनत और लगन है.

रूवैदा के पिता सलामुद्दीन बजद दूरदर्शन के उप-निदेशक के पद से हाल ही में सेवानिवृत्त हुए हैं. कुपवाड़ा की आतंकवादी गतिविधियों से बचने के लिए वो वहां से श्रीनगर आ गए थे. अपनी बेटी की इस सफलता पर सलामुद्दीन का कहना है कि ‘मुझे अपनी बेटी पर बहुत गर्व है. उसने परिवार के साथ-साथ राज्य का नाम भी रौशन किया है.’ इसके साथ ही वो कहते हैं कि “मैं काफ़ी सम्मानित महसूस करता हूं. वह हमारे समुदाय की पहली ऐसी लड़की है, जो हर क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन कर रही है.”

अगले पेज पर देखें रूवैदा की सफलता की कहानी